किसान भाई पॉलीहाउस के लिए ऐसे करें आवेदन

पलायन पर प्रहार - पॉलीहॉउस बिज़नेस


नैनीताल जिले में स्वरोजगार के अवसर बढ़ाए जा रहे हैं। पलायन रोकने के लिए जिला प्रशासन स्वरोजगार के लिए नए-नए प्रयोग कर रहा है। पर्वतीय क्षेत्रों में इसका फायदा भी मिला है। जिला प्रशासन ने पलायन रोकने और कै श क्रॉप को बढ़ावा देने के लिए पॉलीहाउस योजना को पहली बार बेहतर तरीके से लागू किया है। नैनीताल जिले में पॉलीहाउस लगाने के लिए पहली बार 90 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। इसके लिए किसान के पास 50 स्क्वायर मीटर जमीन होनी चाहिए। पर्वतीय क्षेत्र के कई किसान इसका लाभ भी उठा रहे हैं।Polyhouse Manufacturer & Supplier
पलायन रोकने के लिए डीएम धीराज गर्ब्याल ने पॉलीहाउस की सब्सिडी 10 प्रतिशत बढ़ा दी है। पहले पॉलीहाउस पर 80 प्रतिशत ही सब्सिडी मिलती थी। यह अतिरिक्त सब्सिडी जिला प्लान से दी जा रही है। डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि पॉलीहाउस लगाने के लिए स्वयं सहायता समूह और व्यक्तिगत किसानों को यह सुविधा दी जा रही है। कहा कि पर्वतीय क्षेत्र में इसका प्रयोग सफल भी रहा है। 

पिछले वित्तीय वर्ष में जिले में लगे एक हजार पॉलीहाउस
हल्द्वानी। जिले में पहली बार वित्तीय वर्ष 2021-22 में 1000 पॉलीहाउस स्थापित किए गए हैं। इसमें से अधिकांश पॉलीहाउस रामगढ़, मुक्तेश्वर, भवाली और भीमताल क्षेत्र में लगे हैं। उद्यान विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इससे कैश क्रॉप में 30 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

ऐसे करें आवेदन-
– किसान जिसके पास 50 स्क्वायर मीटर जमीन है, वह भी पॉलीहाउस के लिए आवेदन कर सकता है। किसान के पास जमीन के प्रपत्र होने चाहिए। इसके बाद किसान ब्लॉक कार्यालय, जिला उद्यान कार्यालय जाकर सीधे पॉलीहाउस के लिए आवेदन कर सकता है।


Like it? Share with your friends!

Home
Login
Add News
9639789000
Choose A Format
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Image
Photo or GIF